advertisement

PRABHU BHAGAT

प्रभु भगत की महिमा


 here we will describe about prahlad bhagat ki katha,prahlad bhagat ki picture,kailash bhagat ki katha,prahlad bhagat ki film





नमस्कार पीस ऑफ वर्ल्ड में आपका स्वागत है |आज हम प्रभु भक्तों की बात करेंगे प्रभु भक्तों की क्या-क्या विशेषताएं हैं, उनके बारे में चर्चा करेंगे | प्रभु भक्त, सच्चे गुरु, ब्रहम ज्ञानी की श्रेष्ठ्ता चर्चा की करेंगे |


तो आइये जानते है कैसे होते है सच्चे प्रभु भगत, सच्चे गुरुमुख, ब्रह्म ज्ञानी:-


जिस प्रकार सूरज सारी धरती को रोशन कर देता है उसी प्रकार सच्चा गुरु हमारे जीवन को रोशन कर देता है |


जिस प्रकार हवा राजा और कंगाल दोनों व्यक्ति को एक एक समान लगती है उसी प्रकार सच्चा गुरु हर एक इंसान को एक ही नजर से देखते हैं |


जिस प्रकार पानी को कभी मैल नहीं लग सकती, उसी प्रकार ब्रहम ज्ञानी, सच्चे गुरु सभी विकारों की मैल से परे हैं, वे महा निर्मल है |


ब्रहम ज्ञानी गुरु के लिए दुश्मन और सज्जन एक जैसे ही होते हैं क्योंकि उनके अंदर अहंकार बिल्कुल नहीं होता |


ब्रहम ज्ञानी हमेशा सबकी तरफ एक ही नजर से देखते हैं, उनकी नजर से अमृत की वर्षा होती है |


ब्रहम ज्ञानी माया के बंधनों से आजाद होते हैं |


सच्चे गुरु की सुरती हमेशा परमात्मा से जुड़ी रहती हैं |


सच्चे गुरु हमेशा दीन दयाल होते है, कहने का भाव हमेशा दूसरों के भले के बारे में सोचते रहते है |


ब्रहम ज्ञानी की संगत में सब मनुष्य का बेड़ा पार हो जाता है |


सच्चे संत के मन में निराकार परमात्मा का वास होता है |



परमात्मा हमेशा सच्चे सतगुरु के साथ रहते हैं, सच्चे सतगुरु के मन में हमेशा बेफिक्री रहती है |


उनका उपदेश हमेशा दूसरों को पवित्र कर देने वाला होता है |


सच्चे सतगुरु के दर्शन हमें बड़े भाग्य से मिलता है,बड़े नसीबों से मिलता है |

ब्रहम ज्ञानी मुक्ति का रास्ता दिखाने वाला होता है |


प्रभु भक्तों के लिए परमात्मा का नाम ही सबसे बड़ा धन है |


सच्चे सतगुरु हर वक्त अपने प्रभु की प्रशंसा में लीन रहते हैं |


धन्य है प्रभु भगत 



Post a Comment

0 Comments